सात वर्षों में दिल्ली की बर्बादी के लिए केजरीवाल सरकार जिम्मेदार- चौ0 अनिल कुमार

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता ने राहुल गांधी सहित देश के प्रमुख नागरिकों की इजरायली स्पाईवेयर पेगासस द्वारा जासूसी कांड पर मुख्यमंत्री अरविंद की चुप्पी के खिलाफ और कोविड महामारी में कुप्रबंधन, मूल्य वृद्धि, पानी की कमी और जल भराव के विरोध में दिल्ली विधानसभा पर प्रदर्शन किया।

सात वर्षों में दिल्ली की बर्बादी के लिए केजरीवाल सरकार जिम्मेदार- चौ0 अनिल कुमार

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में बड़ी संख्या में मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लोकतंत्र के चारों स्तंभों विधायिका, कार्यपालिका, न्यायपालिका और मीडिया पर इजरायल स्पाईवेयर पेगासस की जासूसी पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की निरंतर चुप्पी के विरोध में आज दिल्ली विधानसभा का घेराव किया क्योंकि यह स्पष्ट तौर पर राष्ट्रदोह का मामला है। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविन्द कजरीवाल एक तरफ तो स्वतंत्र अभिव्यक्ति के समर्थक होने के साथ-साथ गरीबों के कल्याण करने का दावा करते है जबकि मीडियां के लोगों सहित विपक्षी नेताओं की जासूसी के खिलाफ कुछ नही बोले है, जिसमें कांग्रेस नेता श्री राहुल गांधी जी भी शामिल हैं।

 
चौ. अनिल कुमार ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद को पत्र लिखकर मांग की है कि दिल्ली विधानसभा के वर्तमान सत्र में पेगासस जासूसी कांड पर चर्चा की जाए, क्योंकि यह लोगों की निजता और लोकतंत्र पर हमले के साथ-साथ राष्ट्रद्रोह का मामला भी है।


प्रदर्शनकारी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आई.पी. कॉलेज पर एकत्रित होकर दिल्ली विधानसभा की ओर कूच करते हुए ‘‘पेगासस जासूसी कांड पर केजरीवाल चुप, कुछ तो दाल में काला है’’, ‘‘दिल्ली सरकार की लापरवाही, कोरोना महामारी ने मचाई तबाही’’ केजरीवाल ने शक्ल छिपाई, ‘‘शाह-केजरीवाल पेगासस जासूसी कांड पर चुप्पी छोड़ो’’ आदि नारे लगा रहे थे।  कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं को जबरन हटाने के लिए पुलिस पानी की बौछार के साथ-साथ बल प्रयोग भी किया।


प्रदर्शन में चौ0 अनिल कुमार के अलावा पूर्व मंत्री जगदीश टाईटलर, पूर्व सांसद श्री जे.पी. टाईटलर, अ0भ0क0कमेटी के सचिव देवेन्द्र यादव, तरुण कुमार, रोहित चौधरी, पूर्व मंत्री डा0 नरेन्द्र नाथ,  पूर्व विधायक जय किशन, हरी शंकर गुप्ता, अनिल भारद्वाज, भीष्म शर्मा, सुरेन्द्र कुमार, राजेश जैन, कुंवर करण सिंह, अल्का लाम्बा, अमरीश गौतम, वीर सिंह धींगान, विजय लोचव, निगम पार्षद मुकेश गोयल, अभिषेक दत्त, अमरलता सांगवान, प्रवीन, जुबेर अहमद, दर्शना जाटव, सुशीला खोरवाल, सुलक्षण सिंधी, राज, जिला अध्यक्ष हरी किशन जिंदल, मौहम्मद उस्मान, मदन खोरवाल, इन्द्रजीत सिंह, विष्णु अग्रवाल, विरेन्द्र कसाना, राजेश चौहान, दिनेश एडवोकेट, जे.पी. पंवार, धर्मपाल चंदेला, दिल्ली युवा कांग्रेस अध्यक्ष रणविजय सिंह, कोषाध्यक्ष संदीप गोस्वामी, परवेज आलम, एडवोकेट सुनील कुमार, राजेश गर्ग, पूर्व पार्षद पुष्पा सिंह, धीरज बसौया, ठाकुर दास, कमलकांत शर्मा, जगजीवन शर्मा सहित कांग्रेस कार्यकर्ता भी मौजूद थे। प्रदर्शनकारियों में भारी संख्या महिलाऐं भी मौजूद थीं।

 

प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि जहां पूरा विपक्ष देश के प्रतिष्ठित भारतीय नागरिकों की पेगासस स्पाईवेयर द्वारा जासूसी कराने के मामले पर संसद के मानसून सत्र का एकजुट होकर बायकॉट कर रहा है, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल उनके आसपास हो रही घटनाओं से पूरी तरह बेखबर है। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल शायद मोदी-अमित शाह के केन्द्र में तानाशाह शासन से डरते है या वह भाजपा के साथ गंठबंधन की सरकार चला रहे है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि बढ़ती मंहगाई, भष्ट्राचार में आसमन छूते पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस, खाद्य तेल व रोजमर्रो की जरुरत की वस्तुओं के दामों पर नियंत्रण पाने में, दिल्ली में स्वच्छ पानी मुहैया कराने में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पूरी तरह असफल साबित हुए है। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि अरविन्द सरकार की चौतरफा विफलताओं के कारण दिल्ली की जनता महंगाई की मार से हाहाकार कर रही है। कोविड महामारी में आर्थिक तंगी और बेरोजगारी के चलते अजीविका चलाने से जूझ रहे गरीब, मजदूर, निम्न तथा मध्यम वर्ग के लोगों को राहत देने की मुख्यमंत्री केजरीवाल की कोई मंशा ही नही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सहित अधिकतर शहरों में पेट्रोल 100 रुपये के उपर पहुॅच गया है और डीजल के दाम भी आसमान छू रहे है तथा रसोई गैस सिलेंडर के दाम 834 रुपये 50 पैसे होने के महिलाओं की रसोई का बजट बिगड़ चुका है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में पेट्रोल-डीजल की दरों के कारण बढ़ती मंहगाई  से लोग त्राहि-त्राहि कर रहे है। घरेलू जरुरी वस्तुओं, खाद्य तेल, फल व सब्जियों के दाम दुगनी दरों से भी अधिक दामों में उपभोक्ताओं को मिल रहे है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि ज्ञातव्य है कि दिल्ली सरकार कोविड महामारी पर नियंत्रण पाने में पूरी तरह विफल रही थी। एक ओर दिल्ली में मानसून के चलते सड़कों, गलियों में जलभराव के कारण जीवन अस्त व्यस्त हो गया है वहीं दूसरी ओर लोगों के घरों में पीने का पानी गंदा आ रहा है, जबकि हर चुनाव से पूर्व केजरीवाल ने 24 घंटे पीने के पानी नलों में देने का झूठा वायदा किया था। उन्होंने कहा कि 2020-21 में दिल्ली जल बोर्ड में पानी संबधित 1.71 लाख शिकायतें मिली है, इससे साबित होता है कि केजरीवाल द्वारा मुफ्त पानी की योजना कितनी सफल है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि भ्रष्टाचार मिटाने का वादा देकर सत्ता में आए अरविन्द केजरीवाल की दिल्ली सरकार में आज कोई भी विभाग ऐसा नही जहां भ्रष्टाचार के चलते कार्य प्रभावित न हो रहे हो। सरकार की विफलताओं और कुप्रबंधन के चलते हर तरफ भ्रष्टाचार का बोलबाला है । उन्होंने कहा कि हाल ही में डीटीसी बस खरीद पर हुए 4288 करोड़ भ्रष्टाचार पर दिल्ली कांग्रेस ने विजिलेन्स द्वारा जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल बिजली हाफ पानी मुफ्त देने की बात कहते है, परंतु यह नही बताते कि बिजली और पानी के बिलों पर अतिरिक्त चार्ज कितने प्रकार के वसूलते है।


चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि पिछले 7 सालों में मोदी और केजरीवाल सरकार ने जनता की आर्थिक मदद करने की बजाय उनके प्रति संवेदनहीन व्यवहार अपनाया है जबकि यदि दोनो सरकारे पेट्रोल डीजल से एक्साईज ड्यूटी और वैट टैक्सों में कटौती कर दें तो दिल्ली में किफायती दरों में पेट्रोल डीजल उपलब्ध हो सकता है और इसके पश्चात जरुरी वस्तुओं के दामों में भी गिरावट आऐगी। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री दिल्लीवालों को राहत देने के लिए पेट्रोल पर वेट की दरें कम क्यों नही करते।  DDS