आशाराम की रिहाई के लिए 22अगस्त से होगा जन आंदोलन, बमबम महाराज ने किया ऐलान

अटल जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय प्रभारी बमबम महाराज नौहटिया ने कहा कि मिशनरी ताकते भारत की सनातन संस्कृति को बर्बाद करने पर तुली हैं इस क्रम में मिशनरी ताकतें सनातन परंपरा को बदनाम कर रही हैं।

बमबम महाराज नौहटिया ने दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए आगे कहा कि संत आसाराम बापू को विदेशी ताकतों के इशारे पर झूठे मुकदमे में फंसाया गया है इस साजिश का खुलासा जल्द ही हो जाएगा। बमबम महाराज ने आगे कहा कि आगामी 22 अगस्त से पूरे देश में आसाराम बापू की रिहाई के लिए जन आंदोलन चलाया जाएगा जिस के क्रम में 22 अगस्त को दिल्ली के जंतर मंतर पर विशाल धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा इस धरना कार्यक्रम के बाद देश के  राष्ट्रपति महोदय को एक ज्ञापन भी दिया जाएगा।

बमबम महाराज ने आगे कहा कि हमारी पार्टी अटल जनशक्ति पार्टी को देश की कानून व्यवस्था और न्याय प्रणाली पर पूरा विश्वास है हमें विश्वास है कि शीघ्र ही आसाराम बापू के साथ अन्याय होगा। फिर भी अगर आसाराम बापू के साथ न्याय नहीं हुआ उनकी रिहाई नहीं हुई तो देश की जनता आसाराम बापू के लिए आंदोलन करेगी लोग सड़कों पर उतरेंगे।


पत्रकारों से बात करते हुए बमबम महाराज नौहटिया ने आगे कहा कि देश के कई राजनैतिक दल मिसनरी ताकतों के इशारे पर अपना एजेंडा चलाते हैं जिस क्रम में देश की सनातन संस्कृति और  परंपरा को बदनाम करते हैं। लेकिन अब देश की जनता जागरूक हो गई है उसे अच्छे और बुरे का भली-भांति एहसास है।

बमबम महाराज नौहटिया ने आगे कहा कि वह आगामी राष्ट्रपति पद के चुनाव में भाग लेंगे उन्हें अटल जन शक्ति पार्टी की ओर से अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर दिया गया है, बमबम महाराज ने कहा कि राष्ट्रपति पद के चुनाव में जो भी प्रत्याशी भाग लेंगे उन्हें मेरी खुली चुनौती है कि वह मुझसे जनता के बीच खुले में बहस करें।

बम बम महाराज ने कहा कि आगामी राष्ट्रपति पद के चुनाव में उन्हें निश्चित ही विजय मिलेगी अगर वह देश के राष्ट्रपति चुने गए तो देश में एक क्रांतिकारी बदलाव लाएंगे। देश के पुराने गौरव को उसे वापस दिलाएंगे। DDS