WHO की चेतावनी दुनिया में और कहर बरपा सकता है कोरोना

WHO की चेतावनी दुनिया में और कहर बरपा सकता है कोरोना

विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO की आपातकालीन समिति ने गुरुवार को चेतावनी दी कि कोविड -19 के नए वेरिएंट के दुनिया भर में फैलने की आशंका है, जिससे महामारी को रोकना और भी कठिन हो जाएगा. समिति ने एक बयान में कहा, "महामारी कहीं भी समाप्त नहीं हुई है," नए और संभावित रूप से ज्यादा खतरनाक रूपों के उभरने और इसे वैश्विक रूप से फैलने की प्रबल आशंका है, जिसे रोक पाना और भी चुनौतीपूर्ण हो सकता है.

संगठन की आपातकालीन समिति ने यात्रा के लिए कोविड-19 टीकाकरण प्रमाण के खिलाफ भी अपनी राय रखी है. बिना टीकाकरण के यात्रियों के प्रवेश पर रोक लगाने के नियम को लेकर छिड़ी बहस पर समिति ने अपने रुख पर कायम रहते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए कोविड-19 टीकाकरण के प्रमाण की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए.

स्वतंत्र विशेषज्ञों ने कहा कि कोविड-19 टीकों की सीमित वैश्विक पहुंच और असमान वितरण को देखते हुए, अंतरराष्ट्रीय यात्रा की अनुमति देने के लिए केवल टीकाकरण ही शर्त नहीं होनी चाहिए. विशेषज्ञों ने पहले कहा था कि टीकाकरण के प्रमाण की आवश्यकता असमानताओं को गहरा करती है और आने-जाने की असमान स्वतंत्रता को बढ़ावा देती है.

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने चीन को कोरोनावायरस महामारी की उत्पत्ति की जांच में बेहतर सहयोग करने के लिए भी कहा, जिसके पहले मामले दिसंबर 2019 में वुहान में देखे गए थे. टेड्रोस एडनॉम गैब्रियोसुस ने जिनेवा में एक नियमित प्रेस ब्रीफिंग में कहा, "हमें उम्मीद है कि जो हुआ उसकी तह तक जाने के लिए बेहतर सहयोग होगा." उन्होंने ऐसा विशेष रूप से रॉ डेटा तक पहुंच बनाने के लिए कहा जो अब तक अपर्याप्त है.

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि चीन में महामारी फैलने के शुरुआती दिनों में रॉ डेटा की कमी के चलते इसकी उत्पत्ति की जांच बाधित हो रही थी. TNI